कांग्रेस की चिंता छोड़े अपना कुनबा संभालें पांडे: सुक्खू

133

शिमला: हिमाचल में लोकसभा चुनाव से पहले जुबानी हमले तेज हो गए हैं। भाजपा प्रदेश प्रभारी मंगल पांडे की बयानबाजी पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने पलटवार किया है। सुक्खू ने पांडे को नसीहत देते हुए कहा कि वह कांग्रेस की चिंता छोड़ अपना कुनबा संभालें। कांग्रेस पहले भी एकजुट थी और अब भी है। वीरभद्र सिंह पार्टी के वरिष्ठ व अनुभवी नेता हैं। कांग्रेसी किसी व्यक्ति विशेष की नहीं हर आम आदमी की पार्टी है। जिसका ध्येय ही जनसेवा है। भाजपा की तरह वह साम्प्रदायिकताए क्षेत्र व जातिवाद का जहर नहीं घोलती। सुक्खू ने पांडे से पूछा है कि वह यह बताएं हिमाचल में सीएम जयराम ठाकुर हैं या फिर आरएसएस। चूंकिए सरकार को तो संघ के लोग ही चला रहे हैं। वैसे भी भाजपा में एक नहींए जेपी नड्डाए प्रेम कुमार धूमलए शांता कुमार व आरएसएस के रूप में चार.चार मुख्यमंत्री हैं। यह सरकार को चलने ही नहीं दे रहे। न ही यह जयराम ठाकुर को सीएम मानते हैं। पांडे को भाजपा की अंतर्कलह से निपटने की जरूरत है। जो विधानसभा चुनाव में खुलकर सामने आ चुकी है। भाजपा ने ही कैसे सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमलए पूर्व मंत्री गुलाब सिंह ठाकुर व रविंद्र रवि को हराने के लिए साजिश रचीए सब जानते हैं। भाजपा ने तो वरिष्ठ विधायक रमेश धवाला को ही खुड्डेलाइन लगा दियाए जिनके निर्दलीय विधायक होते भाजपा 1998 में पहली बार सत्ता में आई थी। उनके अलावा पार्टी के अनेक विधायक व वरिष्ठ नेता भी सरकार के कामकाज से खुश नहीं हैं। चूंकिए न तो विधायकोंए न ही भाजपा के वरिष्ठ नेताओं और न पार्टी कार्यकर्ताओं के काम हो रहे हैं। सुक्खू ने कहा कि पांडे यह जान लेंए भाजपा के भीतर का ज्वालामुखी किसी भी समय फटने वाला है। भाजपा के अनेक नेता कांग्रेस में आने को आतुर बैठे हैं।

सरकार के कामकाज पर ध्यान दें पांडे

सुक्खू ने कहा कि मंगल पांडे को कांग्रेस के बजाए भाजपा सरकार की चिंता करनी चाहिए। चूंकिए झूठ के सहारे सत्ता में आई भाजपा का गुब्बारा फूट चुका है। गुड़िया के हत्यारों को सलाखों के पीछे पहुंचाने में सरकार विफल रही है। प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज ही नहीं है। जनता त्राहिमाम.त्राहिमाम कर रही है। सरकार को संघ के चलाने से अफसरशाही व भाजपा नेताओं में भारी रोष है। भाजपा के पदाधिकारियों ने ही खुलेआम इस पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। हमीरपुर जिला अध्यक्ष की सोशल मीडिया पर बयां की गई पीड़ा जगजाहिर है। इसलिए पांडे भाजपा के हिमाचल में डूबते जहाज को संभालें।

पांडे को चुनावों के समय ही याद आता है हिमाचल

सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने कहा कि मंगल पांडे को चुनावों के समय ही हिमाचल प्रदेश की याद आती है। उनके पास जनता को गिनाने के लिए प्रदेश व केंद्र सरकार की कोई उपलब्धियां ही नहीं हैं। इसलिए प्रदेश की जनता को एक बार फिर छल.कपट का सहारा लेकर कांग्रेस को वीरभद्र सिंह व सुखविंद्र सुक्खू में बांटने की असफल कोशिश कर रहे हैं। पांडे नहीं जानते कि जनता भाजपा की झूठ की राजनीति को पहचान चुकी है। जनता कांग्रेस के साथ है और भाजपा को सत्ता से उखाड़ने के लिए तैयार बैठी है। कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में एकजुट है। प्रदेश की चारों सीटों पर कांग्रेस ही जीत दर्ज करेगी। पांडे की आंखें उस समय खुली की खुली रह जाएंगी।

सुक्खू ने को सरकार के कामकाज को लेकर स्थिति स्पष्ट करने को कहा और मंगल पांडे से पूछा की जब शिमला में पानी के लिए हाहाकार मचा था । उस समय भाजपा प्रदेश प्रभारी कहां थे। तब उन्हें हिमाचल की जनता की याद क्यों नहीं आई।

प्रदेश के इतिहास में पहली बार किसी अधिकारी को सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन कराते समय सरेआम मौत के घाट उतार दिया गया। प्रदेश में अराजकता चरम पर रही। उस समय पांडे को हिमाचल क्यों याद नहीं आया।

सरकार के छह महीने के कार्यकाल में 100 से अधिक बड़े अपराध हुए। 65 से अधिक दुष्कर्म व छेड़छाड़ व 35 से ज्यादा हत्या इत्यादि के मामले दर्ज हुए। उस समय मंगल पांडे कहां चैन की नींद सो रहे थे।

हिमाचल में मोदी सरकार में विकास थमकर रह गया। भाजपा सांसद प्रदेश की आवाज उठा ही नहीं पाए। पांडे अपने सांसदों से चार साल का हिसाब क्यों नहीं लेते। उन्होंने कितने काम करायेए कितने सवाल पूछे व कितने नोटिस संसद में दिए।