हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने प्रदेश में भारी मात्रा में तबादला उधोग पर प्रदेश सरकार को आढ़े हाथों लेते हुए कहा कि यह सरकार प्रदेश में भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के लिए ट्रांसफर उधोग चला रहे दलालों पर अंकुश लगाने में पूरी तरह असफल साबित हुई है।

एक प्रेस विज्ञप्ति में सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि अभी तक जाली डीओ नोट के आधार पर 2-3 लोगों के ही नाम सामने आये हैं जबकि इस प्रकार के हजारों मामले अभी चिनिहत होने बाकी हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि तबादला उधोग चला रहे कांग्रेस के कुछ दलाल करोड़ों रूपये तबादलों से कमा रहे हैं और प्रदेश सरकार उनको संरक्षण दे रही है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह तबादलों के बारे में एक श्वेत पत्र जारी करें कि मुख्यमंत्री कार्यालय से उनके हस्ताक्षर से कितने तबादले हुए हैं साथ ही प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों के माध्यम से कितने तबादले हुए हैं, विधायकों और सरकारी पदों पर आसीन राजनेताओं की रिकमेन्डेशन पर कितने तबादले हुए हैं, इन सब की जानकारी प्रदेश की जनता जानना चाहती हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार का पूरा ध्यान तबादलों में, विपक्षी नेताओं के विरूद्ध झूठे केस दर्ज करने में और विपक्ष के खिलाफ कीचड़ उछालने में पूरा समय लग रहा है जबकि प्रदेश के विकास योजनाएं पूरी तरह से ठप्प हो गर्इ हैं और सरकारी डिपुओं में राशन नहीं मिल रहा है। भाजपा सरकार के समय शुरू की गर्इ अटल वर्दी योजना ठण्डे बस्ते में डाल दी गर्इ हैं जिसके कारण गरीब और मध्यवर्गीय स्कूली बच्चे भारी आर्थिक नुकसान उठा रहे हैं।

Previous articleविकलांग छात्रवृति योजना का आधार, शिक्षा का सपना हुआ साकार
Next articleChief Minister announces Community Health Centre for Anni
Rahul Bhandari is Editor of TheNewsHimachal and has been part of the digital world for last 15 years.