हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमजोर क्षेत्रों, जंहा पर पार्टी के प्रत्याशी पिछले 15-20 साल से जितने में असफल रही है, में अपनी पकड़ मजबूत करने के इरादे से अनोखी पहल कि हैl हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ठाकुर सुखविन्द्र सिंह सुक्खू ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी और प्रदेश के मुख्यमन्त्री वीरभद्र सिंह से विचार-विमर्श कर प्रदेश के ऐसे विधानसभा क्षेत्रों प्रदेश कांग्रेस सरकार के मन्त्रीयों को अपने-अपने क्षेत्रों के अलावा उन ब्लाकों की जिम्मेवारी सौंपी है जंहा पार्टी कि स्थिति कमज़ोर हुए हैl

पार्टी प्रवक्ता नरेश चैहान ने प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि कांग्रेस संगठन को मज़बूत बनाने के लिए जिन क्षेत्रों में पार्टी पिछले कुछ समय से कमज़ोर प्रदर्शन कर रही है उन क्षेत्रों के कांग्रेसजनों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुऐ प्रदेश कांग्रेस सरकार के मन्त्रीयों को अपने-अपने क्षेत्रों के अलावा उन ब्लाकों की जिम्मेवारी सौंपी है।

मन्त्री इन ब्लाको में ब्लाक अध्यक्ष, ब्लाक पर्यवेक्षक के साथ मासिक बैठाकों की तारिख आपसी तालमेल के साथ तय कर सम्बधित ब्लाक की मासिक बैठकों में हिस्सा लेगें तथा क्षेत्र में संगठन की मजबूती तथा कार्यकर्ताओं की समस्याओं का भी तुरन्त निपटारा करने में लोगों का सहयोग करेगें।

बरिष्ठ नेत्री व् कैबिनेट मंत्री विद्या स्टोक्स को कुटलैहड़ हलके में पार्टी मज़बूत करने कि ज़िम्मेदारी दी गयी है और कौल सिंह ठाकुर को भोरंज, काँगड़ा के तेज़-तरार नेता जीएस बाली को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के गृह क्षेत्र ऊना, सुजान सिंह पठानिया-सिराज, ठाकुर सिंह भरमौरी-झंडूता, मुकेश अग्निहोत्री-हमीरपुर, सुधीर शर्मा-सुजानपुर, प्रकाश चैधरी-जोगिन्द्र नगर, डा0 धनी राम शाड़िल-पांवटा साहिब और अनिल शर्मा को मंदी ज़िले के धर्मपुर हलके कि ज़िम्मेदारी दी गयी है।

Previous articleRishi Dhawan five helped team to restrict Hyderabad for 237
Next articleYouth Congress leaders demand Kangra preliminary ticket for Raghubir Bali
Rahul Bhandari is Editor of TheNewsHimachal and has been part of the digital world for last 15 years.