एक दर्दनाक हादसे में सिरमौर जिला की शिलाई तहसील के द्राबिल में एक आल्टो (एचपी 01ए-2448) गहरी खाई में लुढ़क जाने से इसमें सवार तीन युवकों की मौके पर ही मौत हो गई है। मृतकों की पहचान द्राबिल गांव के सुरेश कुमार (31) प्रदीप (16) व नारायण सिंह (18) के तोर पर हुई है और दो सगे भाई व एक चचेरा भाई था। सुरेश अपने पीछे बुजुर्ग मां-बाप के अलावा, पत्नी व चार बच्चे छोड़ गया है।

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार सुबह करीब सवा आठ बजे शिलाई से 18 किलोमीटर दूर द्राबिल गांव के तीनो युवक बहिचार्चित माघी त्योहार मनाने के लिए साथ लगते गांव बागनल जा रहे थे और रस्ते में शामिकबास के समीप गाड़ी अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई।

सुचना मिलते ही शिलाई पुलिस व एंबुलेंस मौके पर पहुंची, लेकिन हादसा इतना खतरनाक था कि तब तक तीनों युवक दम तोड़ चुके थे। इस हादसे के बाद समूचे क्षेत्र में मातम छा गया है और ग्रामीणों ने माघी त्योहार पर्व को न मनाए जाने का फैसला लिया है। प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच हजार रुपए फौरी सहायता के तौर पर दिए हैं।

एक दुसरे हादसे में थाना सदर कालाअंब के अंतर्गत राष्ट्रीय उच्च मार्ग एनएच-72 पर शुक्रवार सुबह एक कार के खाई में गिरने से उसमें सवार तीन लोग घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक सुबह 9 बजे के करीब मोगीनंद के समीप एक कार एचपी-18बी-4237 के खाई में गिरने से उसमें सवार तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। यह तीनो लोग कालाअंब की एक औद्योगिक इकाई में काम करते हैं और ऑफिस जा रहे थे।

घायलों कि पहचान विशाल निवासी नाहन, दीप्ती निवासी देहरादून व पूर्णिमा निवासी ग्वालियर मध्य प्रदेश के तोर पर हुए हैंl स्थानीय लोगों ने कार में सवार तीनों लोगों को निकालकर कालाअंब पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर उन्हें कालाअंब के निजी अस्पताल में पहुंचाया, जहां तीनों उपचाराधीन है। पुलिस दुर्घटना के कारणों कि जांच कर रही है।

Previous articleBJP plans to create smaller units to manage party activities in large districts
Next articleचोपाल के ग्राम पंचायत बम्टा व माटल में भीषण अग्निकांड, करोड़ों की संपत्ति राख
The News Himachal seeks to cover the entire demographic of the state, going from grass root panchayati level institutions to top echelons of the state. Our website hopes to be a source not just for news, but also a resource and a gateway for happenings in Himachal.