भाजपा में बड़े जिलों को संगठनात्मक स्तर पर छोटी इकाईओं में विभाजित करने पर विचार

87

भारतीय जनता पार्टी राज्य में अपने संगठनात्मक ढांचे में चुस्ती दुरुस्ती के लिए बड़े जिलों, शिमला, काँगड़ा और मंडी में संगठन के अंदर नयी और छोटी टीम का गठन करने पर विचार कर रही हैl जिससे इन् जिलों में पार्टी ज्यादा सुचारू रूप से काम कर सके और संगठनात्मक स्तर पर मजबूती लाई जा सकेl

इसी तथ्य को अमली जामा पहनने के लिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती की अध्यक्षता में प्रमुख नेताओं की बैठक धरमशाला में संम्पन हुए एक बैठक जिसमे राष्टीय सचिव एवं प्रदेश सह प्रभारी श्याम जाजू विशेषरूप से उपस्थित थे में निर्णय लिया गया कि पार्टी के संगठनात्मक दृष्टि से नए जिलों का पुनर्गठन किया जायेl

इसके लिए विधायक सुरेश भरद्वाज कि अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गयाl इस समिति में प्रदेश महामंत्री राजीव बिंदल, विपिन परमार, रामस्वरूप शर्मा तथा पवन राणा को सदस्य बनाया गयाl यह समिति 30 जनवरी 2013 तक जिला एवं मंडल से फीडबैक लेकर आगामी फरबरी माह में होने वाली भाजपा कोर ग्रुप कि बैठक में अपनी रिपोर्ट सोपेंगीl

अगर भाजपा के अंदर (कोर ग्रुप कि बैठक में) बड़े जिलों को संगठनात्मक स्तर पर छोटी इकाईओं में विभाजित करने पर सर्वसम्मती बन जाती है तो शिमला, काँगड़ा और मंडी जैसे बड़े जिलों में दो से तीन जिला अध्यक्ष हो सकते है और बड़े विधानसभा हलके में भी एक से जयादा मंडल अध्यक्ष होंगेl पार्टी के वरिष्ट नेता मानते है कि यह कदम पार्टी को बड़े जिलों में संगठन को मजबूत करने के लिए सहायक होगाl