पीटीए अध्यापकों के लिए बंनेगी ठोस नीति: मुख्यमंत्री

112

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने तपोवन के समीप जोरावर स्टेडियम में हजारों पीटीए अध्यापकों की रैली को संबोधित करते हुए आश्वासन दिया की कांग्रेस सरकार भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों की गहनता से जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने वाले राजनेता अथवा अधिकारी के खिलाफ कानून के दायरे में आवश्यक कार्रवाई करेगी।

पीटीए अध्यापकों की रैली में मुख्यमंत्री ने पूर्व भाजपा सरकार पर आरोप लगते हुए कहा की उन्होंने सभी सीमाएं लांघते हुए बदले की भावना के साथ पीटीए ही नहीं, बल्कि अनेक वर्गों के साथ खिलवाड़ किया, जो अन्यायपूर्ण है। वीरभद्र सिंह ने कहा की लोकतंत्र में चुनी गई सरकार विद्वेष की भावना से नहीं बल्कि प्रत्येक नागरिक के हितों की रक्षा सुनिश्चित करने के लिए बनती हैl

उन्होंने कहा कि पीटीए अध्यापकों की नियुक्तियों का चयन एसडीएम की अध्यक्षता में अध्यापक कमेटी द्वारा किया गया था पर राजनीती की रोटियां सकने के लिए पिछली सरकार ने इससे राजनीतिक जामा पहनने में कोइ कसार नहीं छोडी, जिसका भुगतना हजारो पीटीए अध्यापकों को करना पड़ाl मुख्यमंत्री ने हजारों पीटीए अध्यापकों को रैली में आश्वासन दिया की प्राथमिक सहायक और पीटीए अध्यापकों के हितों की रक्षा के लिए उन्होंने ठोस नीति बनाने के आदेश दिये है ताकि उन्हें न्याय मिल सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस सभी वर्गों को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है और कभी भी क्षेत्रवाद और जातिवाद के नाम पर लोगों को बटने का काम नहीं करतीl उन्होंने कहा की उनकी सरकार का सभी वर्गों को साथ ले के प्रदेश का समान और संतुलित विकास करना ही उद्देश्य है।