Bahra University

2022 के विधानसभा चुनाव से पहले काफी अहम माना जाता है यह चुनाव

शिमला: हिमाचल प्रदेश में सत्ता का सेमीफाइनल इस साल अप्रैल में हाेना है। यानी अगले साल हाेने वाले विधानसभा चुनावाें से पहले प्रदेश के चार नगर निगमों में इलेक्शन हाेने हैं। हालांकि नगर निगम धर्मशाला का चुनाव मई महीने में तय हैं, लेकिन राज्य के तीन नए नगर निगमों के चुनाव भी धर्मशाला के साथ ही हाेने हैं। 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले चार नगर निगमों के चुनाव काे काफी अहम माना जा रहा है। ऐसे में अब अगले एक महीने बाद धर्मशाला, साेलन, मंडी और पालमपुर नगर निगम के चुनाव तय हैं। राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक नगर निगम धर्मशाला का कार्यकाल 9 अप्रैल काे पूरा हाेने जा रहा है। इसके मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग धर्मशाला के साथ-साथ तीनाें नए नगर निगमों के चुनाव भी एक साथ करवाने की तैयारी में हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक नगर निगम धर्मशाला में 24 वार्ड हैं, जबकि साेलन 17, मंडी 17 और पालमपुर के लिए 18 वार्ड तय किए हैं। आने वाले समय में वार्डाें की संख्या में बढ़ाैतरी भी हाे सकती है।

2012 के बाद नहीं हुए पार्टी सिम्बल पर चुनाव

नगर निगम शिमला का चुनाव 2012 तक पार्टी सिम्बल पर हाेते रहे। मई 2012 में यहां महापाैर और उपमहापाैर के चुनाव प्रत्यक्ष तरीके से हुए और माकपा काे जीत मिली थी। उसके बाद प्रदेश की तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने नगर निगम एक्ट में संशाेधन चुनाव अप्रत्यक्ष तरीके और बना पार्टी सिम्बल पर करवाने का फैसला किया था। उसके बाद धर्मशाला नगर निगम के चुनाव भी बिना पार्टी सिम्बल के हुए। राज्य सरकार अब नगर निगम के चुनाव पार्टी सिम्बल पर करवाने के पक्ष में हैं। एमसी शिमला का चुनाव जून 2022 काे तय है।

कांग्रेस-भाजपा की अगली परीक्षा भी शुरु

प्रदेश के चार नगर निगम के चुनाव कांग्रेस और भाजपा के लिए किसी परीक्षा से कम नहीं हैं। ऐसा इसलिए है क्याेंकि सत्तासीन पार्टी यानी भाजपा इन चुनावाें में अपना कब्जा जमाना चाहती है। साेलन, मंडी अाैर पालमपुर में पहली बार चुनाव हाेने वाले हैं, जबकि धर्मशाला नगर निगम का दूसरा चुनाव हाेगा। ऐसे में जाहिर है कि कांग्रेस और भाजपा दाेनाें इन चुनावाें काे हल्के में नहीं लेगी। हाल ही में पंचायतीराज चुनाव संपन्न हुए और दाेनाें दलाें ने अपनी-अपनी दावेदारी जताई है।