कांग्रेस में गतिरोध बरकरार, विरोधी खेमा अध्यक्ष और स्पीकर पद पर अडा

103

प्रदेश कांग्रेस में अध्यक्ष और स्पीकर पद के लिए गतिरोथ को लेकर उम्मीद है की कोइ आमसहमती बन जाये पर अभी भी असंतुष्ट खेमा प्रदेश पार्टी अध्यक्ष और स्पीकर पद पर अपने खेमे के नेताओं की ताजपोशी पर टिका हुआ हैl धर्मशाला में आठ दिसंबर से शुरू होने जा रहे विधानसभा के शीतकालीन सत्र में स्पीकर के चुनाव पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं। लिहाजा कांग्रेस के असंतुष्ट खेमा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और स्पीकर पद झटकने की फ़िराक में है और पार्टी हाई-कमांड तक प्रदेश में पार्टी के अंदर राजनीतिक संतुलन बनने के लिए गुहार कर चुके हैl

फ़िलहाल अभी तक यह साफ नहीं हुआ है की वीरभद्र सिंह जिन्होंने अभी तक अपने हिसाब से ही सरकार के मंत्रिमंडल का गठन किया है और एक के बाद एक महतवपूर्ण पद अपने करीबी, वो चाहे चुनाव जीत के आये है या हारे है, को सरकार में गरिमापूर्ण पद से नवाज़ा है, अपने धुर विरोधीओं को साथ लेके चलने वाले हैl

बहरहाल असंतुष्ट नेताओं प्रदेश में पार्टी में हो रहे वीरभद्र सिंह के दबंग निर्णय पर, जिसकी वजह से कई वरिष्ठ नेताओं पर नये नेताओं को तवाजो दी जा रही है पर अंकुश लगाने के लिए दस जनपथ का सीधा हस्तक्षेप की मांग कर रहे हैl असंतुष्ट नेताओं की मने तो दस जनपथ ने उन्हें सरकार और संगठन में बराबरी का कद दिलाने के लिए कहा हैl