मंत्रिमंडल पर जारी गतिरोध को विराम देने के लिए मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने विभागों के आबंटन की सूची तैयार कर ली है। दिल्ली से लौटते ही मुख्यमंत्री इसकी किसी भी समय घोषणा कर सकते हैं। सूचना के अनुसार शुक्रवार को राष्ट्रीय विकास परिषद की बैठक का जल्द निपटारा होने पर सीएम शिमला लौटकर पोर्ट फोलियो का ऐलान कर देंगे। बैठक में देरी होने पर मुख्यमंत्री विभागों का आबंटन शनिवार तक हर हाल में कर देंगे।

विरोधी खेमे के मंत्रियों कौल सिंह तथा जीएस बाली में गुरुवार को दिन भर पार्टी हाइकमान से अपने लिए बड़े विभागों की पैरवी की है। इसके अलावा मंडी सदर के विधायक अनिल शर्मा भी मंत्रिपद को लेकर हाइकमान से जुगाड़ भिड़ाने में व्यस्त रहे। इसी बीच मुख्यमंत्री वीरभद्र ने अपने विशेषाधिकार का प्रयोग करते हुए विभागों के आबंटन की लिस्ट तैयार कर ली है। सूत्रों की मानें तो गुरुवार को विज्ञान भवन से बैठक के बाद लौटे वीरभद्र सिंह ने अपने भरोसेमंद अधिकारियों के साथ बैठकर पहला काम यही किया है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वीसी फारका तथा उनके मीडिया सलाहकार राजा अवस्थी भी दिल्ली में हैं। विरोधियों के तमाम प्रयासों के बावजूद वीरभद्र सिंह पोर्ट फोलियो का आबंटन अपने विशेषाधिकार के साथ करना चाहते हैं। वह इस मुद्दे पर किसी दूसरे नेता से सलाह मशविरा के मूड में नहीं हैं। बहरहाल मुख्यमंत्री 29 दिसंबर से पहले मंत्रियों के विभागों की घोषणा हर हाल में कर देंगे।

Previous articleआदर्श पंचायत बनने की और अग्रसर निर्मल ग्राम पंचायत नाहरी
Next articleRajesh Dharmani promises pro-people, transparent and responsive Govt
The News Himachal seeks to cover the entire demographic of the state, going from grass root panchayati level institutions to top echelons of the state. Our website hopes to be a source not just for news, but also a resource and a gateway for happenings in Himachal.