शिमला: फल व सब्जी की कीमत नियंत्रण करने के उददेश्य से उपायुक्त शिमला द्वारा फल एवं सब्जी विक्रेताओं के प्रतिनिधियों के साथ हुर्इ बैठक पर अपने विचार व्यक्त करते हुए उपायुक्त दिनेश मल्होत्रा ने कहा कि प्रशासन द्वारा मूल्यों का निर्धारण व जांच आदि का कार्य किया जाता है । लाभांश की मात्रा 20 से 25 प्रतिशत कानूनन तौर पर निर्धारित है।

उन्होंने बताया कि फल व सब्जी विक्रेताओं के प्रतिनिधियों के साथ हुर्इ बैठक में व्यापारियों से इसी प्रावधान के तहत निर्धारित लाभांश लेने का आग्रह किया गया है । उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को फल एवं सबिजयां उचित मूल्य पर प्राप्त हो इसलिए इस प्रकि्रया को पारदर्शी बनाया जाना आवश्यक है।

जिला प्रशासन फल एवं सब्जी विक्रेताओं के साथ साथ सामान्य उपभोक्ताओं के हितों के संरक्षण के लिए वचनबद्ध है जिसकी अनदेखी नहीं की जा सकती । उन्होंने कहा कि परचून फल एवं सब्जी विक्रेता सरकार द्वारा निर्धारित लाभांश ले ताकि आम जनता को राहत मिल सके । मुल्य सूची सहज दिखने वाले स्थान पर लगायें जिससे आम लोग सुविधा अनुरूप सब्जी खरीद सके।

Previous articleजिला शिमला में कृषि विकास के लिए 1.90 करोड खर्च
Next articleभाजपा कि चार्जशीट तथ्यों पर आधारित: गणेश दत
Rahul Bhandari is Editor of TheNewsHimachal and has been part of the digital world for last 15 years.