शिमला: कला संस्कृति एवं भाषा अकादमी द्वारा भारत सरकार के सूचना प्रौधोगिकी मंत्रालय से डायक सैन्टर द्वारा कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र शिमला में डायक ओ लेवल कोर्स दिसम्बर से आरम्भ किया जा रहा है।

यह जानकारी देते हुए कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र के प्रभारी डा. कर्म सिंह ने बताया कि कम्प्यूटर में एक वर्ष का डिप्लोमा प्राप्त करने के लिए न्यूनतम योग्यता 10+2 है। 18 से 35 वर्ष तक की आयु का कोर्इ भी व्यकित यह कोर्स कर सकता है । कला संस्कृति एवं भाषा अकादमी द्वारा चलाया जा रहा यह केन्द्र भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है।

इस कम्प्यूटर सेन्टर में एक वर्ष में डी.टी.पी. उर्दू भाषा डिप्लोमा, तथा सी.सी.सी. आन लाइन सर्टिफिकेट कोर्स के चार डिप्लोमा एक साथ करवाए जाते हैं । ओ लेवल डिप्लोमा तथा मल्टीलिंग्वल डी.टी.पी. के पाठयक्रम में नेटवर्किग, टैली एकांउंटिग, वैव डिजायन, प्रोजैक्ट वर्क, सी लैंग्वेज, आर्इ.टी. टूल्ज आदि विषय शामिल है।

केन्द्र प्रभारी डा. कर्म सिंह ने बताया कि एकादमी द्वारा वर्ष 2014 के लिए नया सत्र आरम्भ किया जा रहा है जिसके लिए आवेदन पत्र 12 दिसम्बर तक भाषा एकादमी के कम्प्यूटर सेन्टर से प्राप्त किए जा सकते है । साक्षात्कार की तिथि 12 दिसम्बर को होगी जिसमें प्रवेशार्थियों को हिमाचली प्रमाण पत्र तथा मैटि्रक और 10+2 के मूल प्रमाण पत्र भी साथ लाने होंगे । चयनित विधार्थियों की सूची 13 दिसम्बर को प्रकाशित कर दी जाएगी तथा उन्हें 13 से 16 दिसम्बर तक फीस जमा करवानी होगीं । कोर्स के लिए नए सत्र का प्रारम्भ 02 जनवरी 2014 से होगा । चयनित विधार्थियों के प्रथम बैच को सुबह 10.00 से 1.00 बजे तक तथा दूसरे बैच को 2.00 से 5.00 बजे तक दो अलग-अलग सत्रों में थ्योरी और प्रैकिटकल का अनुभव तथा योग्य प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। 10+2 उत्तीर्ण विधार्थी आवेदन पत्र प्रोस्पैक्टस किसी भी कार्य दिवस पर प्राप्त कर सकते है ।अधिक जानकारी के लिए डा.कर्म सिंह केन्द्र प्रभारी 94184-70345 सुपरवार्इजर तथा अनुदेशक को दूरभाष नं. 94180-32441, 94186-47699, तथा कार्यालय में 0177-2623149 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Previous articleCongress president asks Chief Minister to take action against corrupt officers
Next articleराजस्व रिकोर्ड होगें कम्प्यूटरीकृत होने से बढ़ी सुविधाएं-उपायुक्त
Rahul Bhandari is Editor of TheNewsHimachal and has been part of the digital world for last 15 years.