मनरेगा के कार्यो के सभी शैलफ ग्राम सभा में होगें पारित

34

zila parishad shimla

शिमला: जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक जिला परिषद अध्यक्ष चन्द्रेश्वर प्रसाद की अध्यक्षता में समपन्न हुई जिसमें सदस्यों द्वारा लोक हित के 93 मामले उठाए गए जिनका सम्बनिधत अधिकारियों ने जबाब दिया । जिला परिषद अध्यक्ष चन्द्रेश्वर प्रसाद ने कहा कि सदस्यों द्वारा उठाए गए मामले जनहित से जुडे़ हैं इसलिए अधिकारी को चाहिए कि प्रश्नो के उत्तर बैठक से पूर्व उपलब्ध करवाएं ताकि उन पर बैठक के दौरान चर्चा हो सके ।

जिला परिषद उपाध्यक्ष प्रहलाद कश्यप ने कहा कि अधिकारियों को चाहिए कि जिला परिषद सदस्यों द्वारा उठाए गए मामलो को प्राथमिकता के तौर पर निपटाएं । सदस्य प्रेम चन्द ठाकुर ने मनरेगा की शैलफों का मामला उठाया जिसपर उपनिदेशक ग्रामीण विकास विभाग ने बताया कि मनरेगा के तहत विकास कार्यो के सभी शैलफ ग्राम सभा के माध्यम से पास करवाएं जाने अनिवार्य हैं । मनरेगा कार्यो पर अतिरिक्त उपायुक्त डी.डी. शर्मा ने अधिकारियों से कहा कि विकास कार्यो में मजदूरी वाले हिस्से को मनरेगा से करवाएं ताकि विकास कार्य जल्दी पूरे हो सके ।

सदस्य नीलम सरैक ने प्रस्ताव रखा कि महिलाओं के लिए पंचायतीराज संस्थाओं में 50 प्रतिशत आरक्षण लाभ हुआ है इस कार्य को और प्रभावशाली बनाने के लिए आवश्यक है कि महिलाओं की पंचायतीराज संस्थाओं में आरक्षण की अवधि को कम से कम 10 वर्ष किया जाए। उन्होंने कहा कि महिला सशकितकरण की दिशा में यह महत्वपूर्ण कार्य होगा ।

रामलाल शर्मा ने जैस, भराड़ा की सड़को को अनुसूचित जाति उपयोजना में डालने की बात उठार्इ जिस पर जिला कल्याण अधिकारी ने बताया कि जैस और भराड़ा को इन सड़को को उपयोजना में डाल दिया गया है । आशा कंवर ने सरियुन, रूणकली, थनोला, केलवी, शिलाकुफर, सुनपुर सड़कों का मामला उठाया जिसपर अधिकारियों ने जानकारी देते हुए आग्रह किया कि कुछ सड़कों पर अनापतित प्रमाण पत्र प्राप्त किए जाने बाकी है । आशा कंवर ने कहा कि लोगों के सहयोग से सभी अनापतित प्रमाण प्रत्र विभाग को उपलब्ध करवा दिए जाएगें ।

जिले में विभिन्न सड़कों की सिथति की चर्चा करते सभी सदस्यों ने एक मत से प्रस्ताव पारित किया कि सेब सीजन के दौरान जिले में सड़के खुली रही जिसके लिए लोक निर्माण विभाग की सरांहना की जानी उपयुक्त है ।सदस्य सुरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा कि नेरवा की ग्राम पंचायत में बिजली उपलब्ध करवाने का मामला उठाया गया है जिस पर अधिशासी अभियन्ता ने कहा कि चयामा में टांरसफरमर लगा दिया गया है ।