हिमाचल राज्य एवं जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण ने किया जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

81

शिमला: अंर्तराष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर आज रिज मैदान पर हिमाचल राज्य एवं जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण द्वारा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया । वितायुक्त एवं प्रधान सचिव राजस्व तरूण श्रीधर ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि विभिन्न प्रकार की आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षित सुरक्षा एजेंसियों हमेशा तैयार होती है । लेकिन आम नागरिक को भी अपनी व अपने परिवार तथा आसपास पडोस की सहायता के लिए प्रशिक्षित होना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार की आपदाओं से निपटने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा जिला एवं खंड स्तर पर भी आपदा प्रबन्धन कमेटियां बनार्इ गर्इ हैं । उन्होंने बताया कि समय समय पर कार्यशालाओं, मार्कडिलों के आयोजन द्वारा आम नागरिकों, विधार्थियों को विभिन्न प्रकार की आपदाओं से निपटने के लिए अपनी सुरक्षा के कारगर उपायों के बारे में जागरूक किया जाता है ।

उन्होने कहा कि आपदा की सिथति में आम नागरिक सेना, आर्इ.टी.बी.पी., गृह रक्षक, अगिन शमन सेवाओं पर निर्भर रहते हैं लेकिन यदि इन सेवाओं के उपलब्ध होने से पूर्व आम नागरिक अपनी या पीडितों की सुरक्षा के कारगर प्रबन्ध की जानकारी हो तो जान एवं माल की हानि को काफी हद तक कम किया जा सकता है। घरेलू गैस का रिसाव, आगजनी इत्यादि मानव जनित आपदाओं के घटने में लापरवाही मुख्य कारण है । यदि समय रहते सुरक्षा के कारगर उपाय अमल मेंं लाए जाये तो जान एवं माल के नुकसान को काफी हद तक कम किया जा सकता हेै ।

आज के इस कार्यक्रम में वरिष्ठ नागरिकों तथा स्कूली बच्चों द्वारा सोलिडर्टी मार्च किया गया । इस अवसर पर आयोजित प्रर्दशनी में आपदा से सम्बनिधत उपकरण, वीडियो किलप तथा पाठन सामग्री भी उपलब्ध करवार्इ गर्इ । गृह सुरक्षा सेवा के कम्पनी कमांडर आर.पी.निप्टा ने गृह रक्षक दल तथा मंडलीय अगिन शमन अधिकारी जे.सी.शर्मा ने आपदकालीन सिथति से निपटने के लिए प्रयोग में लाये जाने वाले उपकरणों व करतबों की जानकारी दी । अगिन शमन विभाग तथा गृह सुरक्षा सेवाओं के जवानों ने अपने साहसिक प्रर्दशन से उपसिथत जनसमुदाय को प्रभावित किया ।

इस अवसर पर राज. वरि.माध्य.पाठशाला पोर्टमोर में 10 अक्तूबर को आयोजित आपदा से सम्बोधित प्रश्नोतरी प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया गया । इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान सरस्वती विधा मंदिर की छात्रा सीमा नेगी तथा प्रजुल घिंटा प्रथम , एस.डी.स्कूल के गौरव वर्मा तथा कार्तिक द्वितीय स्थान प्राप्त किया । तृतीय पुरस्कार संयुक्त रूप से शैलेडे स्कूल के उत्कर्ष शर्मा , डी.ए.वी.न्यू शिमला के वैभव ठाकुर तथा सागर गुप्ता को दिया गया ।

इस अवसर पर जिला परिषद अध्यक्ष चन्द्रेश्वर प्रसाद, नगर निगम के उपमहापौर टिकेंद्र चौहान, विशेष सचिव राजस्व एवं आपदा प्रबन्धन प्रकोष्ठ अमनदीप गर्ग, अतिरिक्त उपायुक्त डी.डी.शर्मा, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी नीरज कुमार, सहायक आयुक्त नगर निगम नरेश ठाकुर, जिला राजस्व अधिकारी नरेन्द्र आहलूवालिया उपसिथत थे ।