सिंचाई सुविधा प्रदान कर किसानों की आमदनी बढ़ाने को तत्पर

66

शिमला: जिला में लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में सिंचाई सुविधा सुनिशिचत करना प्रदेश सरकार की सदेव प्राथमिकता रही है ताकि जिला के समस्त वसितयो। को पेयजल की सुविधा मिल सके तथा ग्रामीण क्षेत्रों में सिंचाई के लिए भरपूर जल की उपलब्धता के माध्यम से फसलों की पैदावार में और अधिक बढौतरी कर किसानों की आमदनी में और अधिक इज़ाफा किया जा सके ।

जिला में सिंचाई एवं पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने के उददेश्य से सरकार द्वारा 13 करोड़ 83 लाख रू. की राशि इस वर्ष के दौरान खर्च की जाएगी । जिला की चिनिहत 7864 वसितयों में से अभी तक 6564 वसितयों को पूर्ण रूप से पेयजल सुविधा उपलब्ध करवा दी गर्इ है जबकि 1300 वसितयों में यह सुविधा आंशिक रूप से उपलब्ध है । इस वर्ष सरकार द्वारा जिला की 396 वसितयों को पूर्ण रूप से पेयजल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है ।

जिला के विभिन्न क्षेत्रों में जहां पर पानी की अत्यधिक कमी रहती है वहां पर अभी तक इस कमी को दूर करने के लिए तथा लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाने की दृषिट से 1961 हैण्डपम्प स्थापित किए जा चुके है जबकि शेष क्षेत्रों में जहां पर यह सुविधा भी उपलब्ध नहीं है । 125 हैण्डपम्प लगाने का लक्ष्य इस वित्त वर्ष के दौरान निर्धारित किया गया है । जिन क्षेत्रों में सिंचार्इ सुविधा की उलब्धता अभी तक नही हो पार्इ है ऐसे 705 है. क्षेत्र को इस वित्त वर्ष के दौरान सिंचाई सुविधा प्रदान की जाएगी ।