नरेंद्र बरागटा के नेतृत्व में भाजपा ने किया कोटखाई में प्रदर्शन

52

भारतीय जनता पार्टी रोहडू व जुब्बल कोटखाई मंडल ने आज बागवानो को साथ लेकर भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र बरागटा के नेत्रित्व में कोटखाई में धरना प्रदर्शन कियाl कोटखाई में जुटे क्षेत्र के बागवानो को संबोधित करते हुए नरेंद्र बरागटा ने कहा की वर्तमान कांग्रेस सरकार ने विदेशी सेब पर लगने वाले आयात शुल्क को शून्य कर दिया है जो हिमाचल के सेब बागवानो के साथ बहुत बड़ा धोखा है विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस ने बागवानो से विदेशी सेब पर आयात शुल्क को 250% करने का वादा किया था किन्तु उल्टा कांग्रेस ने पहले से लगने वाले शुल्क को भी शून्य कर दिया जिसके कारण सेब के दाम की दुर्दशा हुए है और अब बागवान अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है !

नरेंद्र बरागटा ने कांग्रेस सरकार पर बागवानो को गुमराह करने का आरोप लगाया और कहा की सेब की बागवानी इस क्षेत्र और हिमाचल प्रदेश की आर्थिकी की रीड है और वर्तमान कांग्रेस सरकार ने जहा एक और महगाई का तोहफा प्रदेश की जनता को दिया है दूसरी ओर सेब के दाम घटाकर बागवानो के साथ बड़ा धोखा दिया है जिसके लिए प्रदेश का बागवान आज इस सरकार के खिलफ लामबंद हुआ है ! नरेंद्र बरागटा ने कहा की पूर्व की भाजपा सरकार ने पाच वर्षो में सेब बागवानो के हित अनेक काम किये और 2010 में सेब की दुगुनी फसल के बावजूद सेब का दाम नहीं गिरा था और इस वर्ष बागवान को उसका वर्ष भर का खर्चा मिलना भी असम्भव है ! उन्होंने कहा की सरकार व स्थानीय विधायक के सेब सीजन में कुप्रबंधन के चलते बागवानो का भारी नुक्सान हो रहा है सडको की हालात खस्ता है, बिजली सुचारू रूप से नहीं चल रही है जिस कारण सेब को भरने और मंडियों तक पहुचाने में भी परेशानी आ रही है, सेब का दाम अपने निचले स्तर तक पहुच चूका है, कार्टन व ट्रे के दाम में भारी बढ़ोतरी की गयी है, ट्रक किराये को 15 % बढ़ाया गया इन सभी कारणों से क्षेत्र का बागवान अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है! वर्ष 2010 में सेब की फसल इस वर्ष की अपेक्षा लगभग दुगुनी थी लेकिन तत्कालीन भाजपा सरकार के प्रयासों से सेब के दाम में गिरावट नहीं आई व बागवानो के लिए हर प्रकार से सुविधाए सरकार ने दी किन्तु इस वर्ष न तो स्थानीय विधायक और न कोई कांग्रेसी नेता बागवानो की इन सभी समस्याओ को लेकर गंभीर है और न ही वो लोग नज़र आ रहे है जो चुनाव में बड़े-बड़े वादे करते थे ! उन्होंने वर्तमान सी. पी. एस. रोहित ठाकुर की साफ्टा के तहत ईरान से आने वाले सेब को रोकने की मांग पर आनंद शर्मा द्वारा दो हफ्ते का समय दिए जाने को हास्यास्पद करार दिया और कहा की दो हफ्ते में इस सेब सीजन में सेब बागवानो को बर्बाद करने के बाद ही ये सरकार कुछ विचार करेगी जो शर्मनाक है !

नरेंद्र बरागटा ने कहा की पूर्व की भाजपा सरकार ने पाच वर्षो में सेब बागवानो के हित में अनेक काम किये और उस समय के बने हुए व निर्माणाधीन सी. ए. स्टोर व् ग्रेडिंग पैकिंग हाउस की आनद शर्मा अब घोषणा कर रहे है बरागटा ने हैरानी व्यक्त करते हुए कहा की जो प्रोसेसिंग प्लांट गुम्मा में लगना है उसकी लागत भाजपा कार्यकाल में 40 करोड़ की डी पी आर. तय हुई थी और 17 करोड़ रु. उसके लिए जारी भी हो चुके थे और अब आनंद शर्मा ने इसे भी 15 करोड़ रु. में बनाने का प्रस्ताव रखा है और घोषणा कर रहे है इसी प्रकार पतलीकुहल, जरोलटिक्कर में भी पहले से बने हुए प्रोजेक्ट्स घोषणा करना हास्यास्पद है ! नरेंद्र बरागटा ने कहा की 2010में सेब की दुगुनी फसल के बावजूद सेब का दाम नहीं गिरा था और इस वर्ष बागवान को उसका वर्ष भर का खर्चा मिलना भी असम्भव है ! उन्होंने कहा कांग्रेसी नेताओ से प्रश्न किया है की आनंद शर्मा के आयात शुल्क को न बढ़ाने और ईरान से आ रहे सेब पर अभी विचार करने के बयान और घोषणा के बाद इन नेताओ का क्या कहना है और अब सभी बागवान कांग्रेस नेताओ से सेब की हो रही दुर्दशा के बारे में जानना चाहते है ! भारतीय जनता पार्टी ने इस अवसर पर तहसीलदार कोटखाई के माध्यम से राज्यपाल हिमाचल प्रदेश को बागवानो की समस्यायों को लेकर ज्ञापन दिया !