प्रदेश भाजपा ने अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से चलने वाली योजनाओं के नाम बदलने पर आपती जताई

2

हिमाचल प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से चल रही योजनाओ को बंद करने तथा उनका नाम हटाने की कड़े शब्दों में निंदा की है और कहा है की कांग्रेस का अपने विरोधी के नाम से कोइ भी योजना न देख पाना उनकी संकुचित विचारधारा एवं बदले की भावना से काम करने का स्पष्ट उदाहरण हैl

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती, उपाध्यक्ष कृपाल परमार, महामंत्री विपिन सिंह परमार, रामस्वरूप शर्मा, पार्टी प्रवक्ता गणेश दत्त ने एक संयुक्त प्रेस विज्ञप्ती में हिमाचल कैबिनेट द्वारा अटल स्वस्थ्य सेवा 108, अटल स्कूल वर्दी योजना एवं सस्ते राशन बैग पर अटल के नाम को हटाने के निर्णय को एइक तानाशाही कदम बताते हुए कहा की लोकतान्त्रिक व्यवस्था में इस प्रकार के उदाहरण बहुत कम देखने को मिलते है जब पूर्व की सरकार के नामों को गलत ढंग से हटाने का प्रयास किया जा रहा होl प्रदेश भाजपा ने कहा की कांग्रेस पार्टी का वास्तविक चेहरा और चरित्र पूरी तरह से बदल चूका हैl भाजपा नेताओं ने कहा की एक समय जब जवाहरलाल नेहरु प्रधानमंत्री होते थे तो उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिभा को देखते हुए उन्हें हर संभव लोकसभा पहुँचने के लिया सहयोग दिया थाl यही नहीं नरसिम्हा राव के कर्वकाल के दोरान अटल बिहारी वाजपेयी को यूo एनo ओo में भेज गया था जन्हा उन्होंने विपक्ष में रहते हुए भारत सरकार का पक्ष दृढ़ता के साथ विश्व समेलन में रखा था जिससे भारत की छवि विश्व पटल पर एक सुद्रिड राष्ट्र के रूप में प्रदर्शित हुए थी तथा अटल बिहारी वाजपेयी को एक पार्टी एक विचारधारा का व्यक्ति न मानकर देश का सर्वश्रेष्ठ राजनेता के रूप में उनकी प्रतिष्ठा बनी थीl

प्रदेश भाजपा ने कहा की बेशक कांग्रेस अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से चल रही योजनाओं को बंद कर दे, या योजनाओं से उनका नाम हटा दे लेकिन वह हिमाचल के लोगो के ज़हन से नहीं हटा सकतीl भाजपा ने सवाल उठाया है की कांग्रेस पार्टी अटल के नाम से इतनी भयभीत क्यों हैl

प्रदेश भाजपा ने कहा है की इस समय देश में 57 योजनायें गाँधी और नेहरु परिवार के नाम से चल रही है और जब अटल बिहारी वाजपेयी ने नेतृत्व में केंद्र में सरकार थी तो उन्होंने कोइ भे योजना न तो बंद की और न ही किसी भी योजना से गाँधी और नेहरु ने नाम को हटाया था लेकिन कांग्रेस पार्टी घटिया राजनीति के फलस्वरूप अटल बिहारी के नाम से चल रही योजनाओं को हटाना कांग्रेस पार्टी की दिवालियापन राजनीति का एक नमूना हैl भाजपा नेताओं ने कहा की कांग्रेस पार्टी एक नयी ओछी राजनैतिक शुरुआत कर रही है और चेतावनी देते हुआ कहा की इसके दूरगामी परिणाम कांग्रेस के लिया अच्छे नहीं होगेl

प्रदेश भाजपा ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी से कहा है की वह प्रदेश सरकार के इन निर्णय पर पुनर्विचार करे और राज्य सरकार को ज़रूरी निर्देश देl भाजपा नेताओं ने चेतावनी दी की इस तरह के निर्णय से भविष्य में गलत परम्परा की शुरुआत हो जायेगी और चेताया की वह भी भविष्य में सरकार बनाने के बाद गाँधी-नेहरु परिवार के नाम से चल रही योजनाओं को समाप्त करके व् उनका नाम बदल सकती हैl