देवगढ, हिमरी व अंटी उठाउ सिचाईं योजना को केंद्र सरकार स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा: विधा स्टोक्स

34

विधायक प्राथमिकता के तहत 15 करोड 31 लाख की लागत से बनने वाली देवगढ, हिमरी व अंटी उठाउ सिंचार्इ योजना को केंद्र सरकार की त्वरित सिंचार्इ लाभ योजना के अंर्तगत प्रदेश सरकार द्वारा स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा ताकि इस क्षेत्र की सिंचार्इ के पानी की आपूर्ति की मांग को पूरा किया जा सके । यह जानकारी आज सिंचार्इ जनस्वास्थ्य, बागवानी तथा सूचना प्रोधौगिकी मंत्री विधा स्टोक्स ने ठियोग उपमंडल की देवगढ पंचायत के साम्बर गांव में आयोजित पारम्परिक ‘रिहाली मेले के अवसर पर विशाल जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कही ।

उन्होंने बताया कि क्यार-साम्बर-जरार्इ सडक जिसकी लम्बार्इ लगभग 15 कि.मी. है । इस सडक के निर्माण कार्य के लिए 6 करोड की राशि नाबार्ड के तहत स्वीकृत की जा चुकी है । उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त रैहान, कलींड सडक के लिए 9 करोड की राशि स्वीकृत की जा चुकी हेै । उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र का विकास हमारी प्राथमिकता है और इसके लिए सरकार हर सम्भव सहायता के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि गुम्मा फल विधयन संयत्र के लिए 15 करोड 40 लाख रूपये की राशि एपीआर्इ डी ए के तहत स्वीकृत की जा चुकी है ।

इससे पूर्व स्टोक्स ने आज ठियोग उपमंडल की देवगढ पंचायत में 48 लाख रूप्ये की लागत से बनने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंंद्र के नये भवन का शिलान्यास किया । उल्होंने बताया कि इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के बनने से देवगढ, क्यार, क्लीन्ड पंचायत के लगभग 20 गांवों के 10 हजार लोग स्वास्थ्य सुिवधाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगें । विधा स्टोक्स ने बताया कि इस भवन का निर्माण करने के लिए 34 लाख की राशि लाेंक निर्माण विभाग को प्रदान कर दी गर्इ है । उन्होंने बताया कि इस दो मंजिला भवन में चिकित्सक आवास फार्मसिस्ट आवास के अतिरिक्त मरीजों की सुविधाओं के लिए ओ.पी.डी कक्ष, फार्मसिस्ट कक्ष, पटटी व इंजैक्शन कक्ष स्टोर की सुविधा उपलब्ध करवार्इ्र जायेगी । उन्हेांने विश्वास जताया कि इस भवन का निर्माण कार्य जल्द पूरा कर लिया जायेगा ।

इससे पूर्व उन्होंने ठोडा कलाकार पार्टी को 25 हजार तथा स्कूली बच्चों को उनके सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए 10 हजार की राशि की घोषणा की ।

मुख्य संसदीय सचिव रोहित ठाकुर ने अपने सम्बोधन में कहा कि ठियोग-हाटकोटी सडक निर्माण कार्य जल्द आरम्भ कर दिया जाएगा । उन्होंने कहा कि ठियोग क्षेत्र को बेमौसमी सबिजयां उगाने में विशिष्ट स्थान प्राप्त है जिसका सारा श्रेय मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह तथा विधा स्टोक्स को जाता हे । उन्होंने मांग की कि हिमरी-देवगढ व अन्य क्षेत्रों को यदि निरन्तर सिंचार्इ सुविधाएं प्राप्त हो तो सब्जी उत्पादन को और अधिक गति मिलेगी और इस क्षेत्र के लोगों की आर्थिकी में सुधार होगा ।

उन्होंने कहा कि इस बार सेब की बम्पर फसल होने के बावजूद भी यातायात में कोर्इ रूकावट नहीं हुर्इ है तथा बागवानों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पडा । जबकि पूर्व सरकार के कार्यकाल में बागवानो को भारी क्षति हुर्इ थी। सडकों के रखरखाव के कारण यातायात में अवरोध पडने से बागवानों का सेब मंडी तक नहीं पहुंंच सका जिससे बागवानों को 700 करोड रूपये की हानि हुर्इ । उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार ने गता फैक्टरी को कबाड के भाव बेचा अब वो किस आधार पर किसानों का हितैषी होने का दम भरते है ।

उन्होंने इस अवसर पर बच्चों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए 10 हजार की राशि दी । इससे पूर्व मेला कमेटी अध्यक्ष सुरेश चौहान ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया वहीं इस मेले में पधारने पर आभार व्यक्त किया । मेला कमेटी व मंदिर से सम्बनिधत समस्याओं के बारे में मांगपत्र प्रस्तुत किया ।

इस अवसर पर प्रधान ग्रामपंचायत क्यार रीना जस्टा, प्रधान देवगढ प्रताप चौहान, उपमंडलाधिकारी ठियोग एम.आर.भारद्वाज, अन्य अधिकारी व गणमान्य व्यकित उपसिथत थे ।