उदयपुर: उदयपुर पंचायत के गांव कोराकी ,सलपट ,रतोली ,चारू ,नामू, आहत ,धवल उदयपुर और लोबर के लोगों ने एक बार फिर 400 मेगा वाट मोजर बाएर शेली प्रोजेक्ट को नाकारा दिया है। ग्रामीणों ने ग्राम सभा में लिखित रूप से शेली प्रोजेक्ट के खिलाफ़ प्रस्ताव पास किया। पिछले ग्राम सभा मीटिंग में भी ग्रामीणों ने एस डी एम (SDM) उदयपुर का सामने विरोध किया था। आज कंपनी के लोग ग्राम सभा मीटिंग में आकर लोगों को लुभाने और फुसलाने चाहते थे पर उत्तेजित ग्रामीणों के आगे इनका एक ना चला।

रतोली गांव के एक वृद्ध ने कंपनी के लोगों का कहा की पहले गांव को बम से उड़ा दो फिर डेम और प्रोजेक्ट जो चाहे बना लोl शेली प्रोजेक्ट संघर्ष समिति के सदस्य और कोराकी युवा मण्डल के अध्यक्ष बीर सिंह ठाकुर ने कंपनी वालों से जानना चाहा की उतराखंड में जो हुआ इसका ज़िम्मेदार कोन है ?

पूर्व उप प्रधान महिन्दर ठाकुर ने कहा की जो नुकसान इस प्रोजेक्ट से होगा वो लाहौल के लिए पारिस्थितिकी आपदा होगा और लाखों पेड़ कटने से लाहौल भूगोल बदल जाएगा।

Previous articleशेली प्रोजेक्ट की साईट से गायब युवक के केस में डी सी लाहौल स्पीती ने उच्च न्यायालय में किया हलफनामा दायर
Next articleNegative propaganda over recent floods in state affecting tourism: Tikender
The News Himachal seeks to cover the entire demographic of the state, going from grass root panchayati level institutions to top echelons of the state. Our website hopes to be a source not just for news, but also a resource and a gateway for happenings in Himachal.