Tag: repblic day

गण त्रस्त … तंत्र भ्रष्ट … नेता मस्त … शायद ये...

(दीपक “साहिल “ सुन्द्रियाल) सुना है गणतंत्र ....धनतंत्र ....छ्ल तंत्र .... में तब्दील होता जा रहा है ?? जनता नेताओ को और नेता...